Rajasthan: पेपर लीक मामले को लेकर बुजुर्ग महिला ने सीएम गहलोत को सुनाई खरी खोटी, वीडियो हुई वायरल


पेपर लीक मामले को लेकर भड़की बुजुर्ग महिला

पेपर लीक मामले को लेकर भड़की बुजुर्ग महिला



By Vinit Mandrai Posted on: 23/01/2023

पेपर लीक की ख़बरें आए दिन सुनने को मिलती रहती है. यह मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. राजस्थान में भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक मामलों को लेकर एक ख़बर बहुत ही वायरल हो रही है, जो राजस्थान सरकार की मुश्किलें बढ़ा रही है. बता दें कि पेपर लीक मामले से आहत छात्र-छात्राओं के अभिभावक हताश और निराश हो गए हैं. अब ऐसी ही एक निराश और दुखी मां से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आमना-सामना हो गया है. श्रीगंगानगर के जैतसर में गांव डाबला के गुरु जंभेश्वर मंदिर में दर्शन करने पहुंचे अशोक गहलोत का उस मां से सामना हुआ था. 60 वर्षीय बुजुर्ग महिला पेपर लीक होने के मामले को लेकर बहुत अधिक गुस्से में दिखाई दी है. 

बुजुर्ग महिला का वीडियो हुआ वायरल 

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर इस महिला का वीडियो जंगल में आग की तरह फेल रहा है. इस वीडियो में महिला कहती हुई दिखाई पड़ रही है कि हमारे बच्चों का पेपर लीक हो गया जिस घर में 4 बेटी हैं चारों ही पढ़ रही हैं. हमारी 6 बीघा जमीन है. साथ ही एक भी बेटी नौकरी पर नहीं लग पाई है. घर के सभी सदस्य इधर-उधर भटक रहे हैं. लेकिन किसी की सुनवाई नहीं की जा रही है. आगे महिला ने कहा कि सब आपके हाथ में ही है. साल 2022 में हमारे बच्चों ने परीक्षा दी थी. आप नारा देते रहते हो कि बेटी पढ़ाओ. हम बेटियों को पाल पोस कर बड़ा कर देते हैं, अच्छी परवरिश करते हैं और पढ़ाते लिखाते  हैं और जब बेटी बड़ी होती हैं तो बेटी के साथ बूढ़ा मां-बाप परीक्षा केंद्र पर उन्हें पेपर दिलवाने के लिए ले जाते हैं, जब तक उनका पेपर ख़त्म नहीं होता, वो बाहर ही बैठे रहते हैं, बाद में अखबार से ख़बर मिलती है कि पेपर लीक हो गया. घरवालों को कितना दुःख होता है क्या आप इसका फैसला कर सकते हो?

पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी उठाया था पेपर लीक का मामला

आपको बता दें कि राजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने किसान सम्मेलन में पेपर लीक मामले को लेकर अभिभावकों की परेशानी और दुःख को बताया था. उन्होंने कहा था कि उन परिवार के लोगों के दिल पर क्या गुजरती होगी जो अपने बच्चों को भर्ती परीक्षा की तैयारी करवाने के लिए हजारों रुपए खर्च कर परीक्षा के लिए तैयार करते हैं और उसके बाद पेपर लीक हो जाते हैं, फिर माँ-बाप के पैसे भी खर्च होते हैं और बच्चों को दोबारा से तैयारी करनी पड़ती है. इसलिए हमें उन लोगों का दर्द भी समझना चाहिए.

ये भी पढ़े:

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल के दामों में कब होगी कमी? जानिए पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी की कंपनियों से क्या है मांग?

Pakistan: मुस्लिम धर्म न अपनाने पर हिन्दू महिला का किया बलात्कार, जानिए पूरा मामला