कांवड़ यात्रा पर आतंकी हमले का अलर्ट!

Posted on: 2022-07-15 09:51:08

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

भगवान शिव का पवित्र माह कहा जाने वाला सावन का महीना गुरुवार को शुरू हो चूका है इसके साथ ही कांवड़ यात्रा भी शुरू हो गई है। चहुँ ओर बम बम भोले के जयकारे सुनाई दे रहे हैं, भोले के भक्त कांवड़ और जल भरने के लिए अपने गंतव्य की ओर निकल पड़े हैं। कांवड़ यात्रा के लिए सरकार से ले कर पुलिस प्रसाशन ने अपनी कमर कस ली है और सभी इंतजाम पूरे कर लिए हैं। कांवड़ियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए सभी इंतजाम किए गए हैं, साथ ही कांवरियों की सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। 

कांवड़ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका!  

आपको बता दें गुरुवार को गृह मंत्रालय ने कट्टरपंथी तत्वों से खतरे की आशंका जताते हुए राज्य सरकारों को कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम  करने के निर्देश दिए हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो से मिली जानकारी के आधार पर गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी करते हुए उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों को कांवड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाने का निर्देश दिया है। गृह मंत्रालय ने रेलवे बोर्ड को भी आतंकी खतरे को देखते हुए ट्रेनों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के निर्देश दिए हैं, एडवाइजरी के मुताबिक कांवड़ यात्रा के दौरान किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए अधिक से अधिक संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किये जाने के निर्देश हैं।  

दो साल बाद शुरू हुई कांवड़ यात्रा 

कोरोना महामारी के चलते पिछले दो सालों से कांवड़ यात्रा नहीं हुई थी, दो साल बाद भोले के भक्तो का इंतजार ख़त्म हुआ है और भोले के भक्त कांवड़ लेने के लिए चल दिए हैं। आपको बता दें बुधवार से कांवड़ यात्रा शुरू हो गई है और हर तरफ बम भोले के जयकारे गूँज रहे हैं। भारी संख्या में भोले के भक्त जल लेने के लिए हरिद्वार सहित अन्य जगहों पर पहुँच रहे हैं। अधिकारियों की माने तब अधिकारियों का मानना है की इस वर्ष कांवड़ यात्रा में कम से कम 4 करोड़ कांवड़ियों के पहुँचने की उम्मीद है।  

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

हरिद्वार में कांवड़ियों की भारी भीड़ उमड़ने की आशंका को देखते हुए सीसीटीवी कैमरों, ड्रोन और सोशल मीडिया के जरिये कड़ी निगरानी की जा रही है। जहाँ पर मेला लगता है और कांवड़ियों की भीड़ उमड़ती है तब वहां बम निरोधक दस्ते और आतंकवाद निरोधी दस्ते भी तैनात किए गए हैं। लगभग 10,000 पुलिस के जवानों की तैनाती की गई है और साथ ही हरिद्वार और आसपास के क्षेत्रों को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टरों में विभाजित किया गया है।  पुलिस ने कहा है कि कांवड़ यात्रा मार्गों की चौबीसों घंटे निगरानी की जाएगी और किसी भी शिव भक्त को भाले और अन्य हथियारों के साथ शहर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

यह भी पड़ें

Edited By: Ekagra Gupta

2 - Comments

  • Great story, I love it

    Entertainment news is best on your channel Good!

Leave a comment